दिव्य कुम्भ,भव्य कुम्भ 2019

PRAYGRAJ: कुम्भ पर्व विश्व मे किसी भी धार्मिक प्रयोजन हेतु भक्तों का सबसे बड़ा संग्रहण है। सैंकड़ों की संख्या में लोग इस पावन पर्व में उपस्थित होते हैं। कुम्भ का संस्कृत अर्थ है कलश, ज्योतिष शास्त्र में कुम्भ राशि का भी यही चिह्न है। आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश के प्रयागराज (इलाहाबाद) में अगले महीने जनवरी में होने वाले कुंभ मेले की तैयारियां जोरों पर हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रविवार को प्रयागराज पहुंचे जाहं वह तकरीबन 4048 करोड़ रुपये की 366 परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास करेंगे।

इससे पहले मोदी प्रधानमंत्री बनने के बाद पहली बार रायबरेली पहुंचे। यहां उन्होंने रेल मंत्री पीयूष गोयल के साथ मॉडर्न रेल कोच फैक्ट्री का निरीक्षण किया। 900वें मॉडर्न रेल कोच को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। साथ ही 1100 करोड़ की परियोजनाओं का शिलान्यास किया। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा, ‘‘कोच फैक्ट्री की क्षमता बढ़ने से कामगारों, इंजीनियरों और डिप्लोमा होल्डरों को रोजगार मिलेगा।

कांग्रेस पर किया हमला

मोदी ने कहा, ‘‘पिछली सरकार ने घोषणा की थी कि यहां 5000 लोगों को रोजगार मिलेगा। उन्होंने मालाएं पहनी थी, लेकिन स्वीकृति सिर्फ आधे पदों को दी, एक को भी नियुक्ति नहीं दी। जो कर्मचारी काम कर रहे थे, उन्हें कपूरथला से लाया गया था। आज यहां कर्मचारियों की संख्या 1500 से ज्यादा हो चुकी है। रायबरेली भविष्य में रेलवे कोच हब बनने वाला है। रेलवे के आलावा हाईवे, एक्सप्रेसवे और वॉटरवे तैयार किए जा रहे हैं।

”मोदी ने राफेल डील का जिक्र करते हुए कहा, ‘‘देश की शीर्ष अदालत ने राफेल डील को हरी झंडी दी है। सच को श्रृंगार की जरूरत नहीं होती है। झूठ कितना भी बोला जाए, उसमें जान नहीं होती है। कांग्रेस सरकारों का इतिहास और रवैया सेनाओं के प्रति कैसा रहा, देश उसे कभी नहीं भूलेगा। करगिल युद्ध के बाद वायुसेना के लिए आधुनिक विमानों की जरूरत बताई गई थी, लेकिन अटलजी की सरकार के बाद 10 साल कांग्रेस की सरकार रही। इन लोगों की बातों पर पाकिस्तान में तालियां बजाई जा रही हैं। रामचरित मानस की एक चौपाई है- झूठइ लेना झूठइ देना, झूठइ भोजन झूठ चबेना। बोलहिं मधुर बचन जिमि मोरा, खाइ महा अहि हृदय कठोरा।। इसका अर्थ है कि कुछ लोग झूठ का ही सेवन करते हैं और झूठ ही बोलते हैं।”

कैसी है प्रयागराज की तैयारी

  • प्रयागराज में सभी पर्यटन स्थलों का सुदृढ़ीकरण
  • अस्पतालों का नवीनीकरण, नए वार्डों का विकास और आधुनिक चिकित्सा उपकरणों की व्यवस्था
  • 6 अंडरपास का विस्तारीकरण एवं सभी 10 रेलवे स्टेशनों का उच्चीकरण
  • 10 उपरिगामी सेतुओं (आरओबी) का निर्माण
  • 264 सड़कों का चौड़ीकरण और सुदृढ़ीकरण
  • बमरौली एयरपोर्ट के नए टर्मिनल का निर्माण
  • मेला क्षेत्र में एक लाख बाइस हजार पांच सौ शौचालयों का निर्माण
  • पेंट माय सिटी अभिया के तहत पूरे शहर व मेला क्षेत्र में 15 लाख वर्ग फीट क्षेत्र में आकर्षक कलाकृतियों को सृजन
  • दस हजार व्यक्तियों की क्षमता वाले गंगा पंडाल, प्रवचन पंडाल, सांस्कृतिक पंडाल और बीस हजार लोगों के लिए रैन बसेरों का प्रबंध
  • 1300 हेक्टेयर क्षेत्र में 94 पार्किंग स्थलों का विकास, जिसमें 5 लाख वाहनों की पार्किंग सुविधा
  • इंटिग्रेटेड कमांड एंड कंट्रोल सेंटर, 1000 से अधिक कैमरों, एनेलेटिक्स द्वारा सुरक्षा व्यवस्था
  • 1500 प्रीमियम टेंट सहित भव्य टेंट सिटी की स्थापना
  • लेजर शो, लाइटिंग, फूड कोर्ट, टूरिस्ट वॉक आदि की सुविधा
  • घाटों पर विकास व रिवर फ्रंट संरक्षण कार्य
  • चालीस हजार से अधिक एलईडी लाइट की स्थापना
  • शटल बस व ई-रिक्शा का संचालन
  • 64 यातायात चौराहों का पुनर्निर्माण और सौंदर्यीकरण
  • विद्युत संयंत्रों का उच्चीकरण और सशक्तिकरण
  • 5 स्थानों पर जेटी का निर्माण
  • पुलिस थानों व अवस्थापनाओं का निर्माण व उच्चीकरण
  • 500 से अधिक सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन

कुम्भ—2019 के मुख्य आकर्षण

संगम वॉक
गंगा आरती
पुस्तक प्रदर्शनी
रामलीला
कला शाम
प्रयागराज हेरिटेड वॉक
योग कार्यक्रम
जल मार्ग पर्यटन
एम्यूजमेंट पार्क
फूड कोर्ट
संस्कृति ग्राम
सांस्कृतिक कार्यक्रम
सेल्फी प्वाइंट
लेजर लाइट शो
थीमेटिक गेट
पेंट माय सिटी
स्टॉल, वेडिंग जोन, प्रदर्शननियां
वर्चुअल रियलिटी कियोस्क

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *