पटरी टूटने से रेल हादसा, 11 बोगी डिरेल, 6 की मौत

पटना। रविवार सुबह बिहार के हाजीपुर में दिल्ली आ रही सीमांचल एक्सप्रेस के 11 बोगियां पटरी से उतर गईं, हादसे में अब तक 7 लोगों की मौत हो चुकी है और कई लोग घायल हैं। जिन्हें कि पास के अस्पताल में भर्ती कराया गया है। यह ट्रेन बिहार के जोगबनी से दिल्ली के आनंद विहार टर्मिनल आ रही थी। हादसा रविवार तड़के तीन बजकर 58 मिनट पर सहदेई बुजुर्ग में हुआ।

हादसे की भयावहता का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि ट्रेन के डिब्बे एक के ऊपर एक चढ़ गए थे। हादसे को लेकर रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी राजेश कुमार ने कहा गया कि प्रथम दृष्टया पटरी में दरार की वजह से हुआ यह रेल हादसा। पूर्व मध्य रेलवे के प्रवक्ता राजेश कुमार ने बताया कि सामान्य श्रेणी का एक डिब्बा, वातानुकुलित श्रेणी का एक डिब्बा बी3, शयनयान श्रेणी के डिब्बे एस8, एस9, एस10 और चार अन्य डिब्बे पटरी से उतर गए। अप्रभावित 12 कोचों को हाजीपुर के लिए रवाना कर दिया गया है जहां इसमें और कोच जोड़े जाएंगे।

 

रेलवे ने कहा कि ट्रेन हादसे में छह लोगों की मौत हुई है। अधिकारियों ने बताया कि हादसे के समय ‘12487 जोगबनी-आनंद विहार टर्मिनल सीमांचल एक्सप्रेस तेज गति से चल रही थी। सोनपुर और बरौनी से डॉक्टरों का दल घटनास्थल पर पहुंच गया है। राहत एवं बचाव कार्य के लिए घटनास्थल पर राहत ट्रेन रवाना की गई है। रेलवे ने सोनपुर 06158221645, हाजीपुर 06224272230 और बरौनी 06279232222 के लिए हेल्पलाइन नंबर जारी किए हैं।

हादसे में पीडि़त महिला ने बताया कि अचानक जोर की आवाज आई और शोर होने लगा। सीमांचल एक्सप्रेस के B3 AC कोच में सफर कर रही महिला पैसेंजर ने बताया कि हर तरफ सामान और पैसेंजर एक-दूसरे के ऊपर गिरे हुए थे।
स्लीपर कोच में सफर कर रहे एक अन्य प्रत्यदर्शी ने बताया कि इस घटना कई लोगों की मौत हो गई है और बड़ी संख्या में लोग घायल भी हुए हैं। जोगबनी से आ रही यह ट्रेन नई दिल्ली के आनंद विहार टर्मिनल जा रही थी।
सूत्रों के अनुसार सोनपुर और बरौनी से डॉक्टरों की टीम घटना स्थल पर पहुंच गई है। सूत्रों ने बताया कि राहत एवं बचाव अभियान के लिए राहत ट्रेन को भी घटना स्थल पर रवाना कर दिया गया है। विशेष जानकारी की प्रतीक्षा है।

रेलवे ने मरने वाले लोगों के परिवार को 5 लाख रुपये जबकि गंभीर रूप से घायलों को एक लाख रुपये और घायलों को 50,000 रुपये देगा। सभी चिकित्सा व्यय भी रेलवे द्वारा वहन किया जाएगा।
सूचना पर सोनपुर से राहत व बचाव दल घटनास्थल पर पहुंच गया है। राहत बचाव कार्य जारी है। हादसे की गंभीरता को देखते हुए लगता है कि मरने वालों की संख्या बढ़ सकती है। बता दें कि भारतीय रेलवे की तरफ से हेल्पलाइन नंबर जारी किया गया है जिस पर यात्रियों के बारे में जानकारी ली जा सकती है। एडिशनल डायरेक्टर जनरल स्मिता वत्स शर्मा ने बताया कि अभी हमारा ध्यान राहत और बचाव कार्य पर है। डॉक्टरों की टीम के साथ रेलवे एक्सीडेंट मीडियल वैन मौके पर है। एनडीआरएफ की दो टीमें भी मौके पर पहुंच चुकी हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *