शिवपाल यादव का फिर झलका दर्द

 

Lucknow: समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और उनके चाचा एवं प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के संस्थापक शिवपाल सिंह यादव के बीच आए दिन टिप्पणी होती रहती हैं, लेकिन जो ताजा टिप्पणी हुई है उससे ऐसा लगता है कि शिवपाल यादव की घर वापसी संभव है। हालांकि इस पर अभी कुछ कहा नहीं सकता है।
प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के संस्थापक शिवपाल सिंह यादव फिरोजाबाद में एक कार्यक्रम में पहुंचे थे। यहां पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने एक बार फिर समाजवादी पार्टी में तरजीह ने मिलने की बात कही। इस दौरान उनकी आंखों में आंसू झलक आए। ​उन्होंने कहा कि वह हमेशा समाजवादी पार्टी को आगे बढ़ाने की बात करते थे, लेकिन उन्हें बार-बार अपमानित किया गया है। पार्टी से उन्हें किनारे कर दिया गया, इसलिए उन्होंने नई पार्टी बनाई। पत्रकारों ने जब शिवपाल से पूछा कि अखिलेश यादव प्रगतिशील समाजवादी पार्टी को भाजपा की बी पार्टी कहते हैं। इस पर शिवपाल ने कहा कि अखिलेश मोर्चा बना लें, क्यों डर रहे हैं, उनके साथ चुनाव लड़ेंगे। शिवपाल ने कहा कि एक शर्त जरूर रहेगी। उन्होंने पार्टी का नाम प्रगतिशील समाजवादी पार्टी होगा और उसमें 50 फीसदी शेयर भी चाहिए।
शिवपाल यादव से जब नेताजी यानि मुलायम सिंह को लेकर पूछा गया तो उन्होंने कहा कि उनके ही कहने पर मैंने पार्टी बनाई है। उन्हें अपनी ही पार्टी से चुनाव लड़ने के लिए कहा है। उन्होंने कहा कि यदि नेता जी मेरी पार्टी से चुनाव लड़ते हैं तो उन्हें टिकट दिया जाएगा। शिवपाल ने कहा कि हमारी पार्टी पूरे प्रदेश में सभी सीटों पर प्रत्याशी उतारेगी। हालांकि राजनीतिक सूत्रों का मानना है कि शिवपाल सिंह यादव और मुलायम सिंह यादव के बीच ऐसे रिश्ते हैं कि वह दोनों अलग होकर भी अलग नहीं हो सकते हैं। ऐसे में चुनाव तक अभी कुछ नहीं कहा जा सकता है कि शिवपाल यादव अपनी पार्टी से प्रत्याशी उतारेंगे या सपा में विलय करेंगे। माना जा रहा है कि शिवपाल सिंह यादव फिर से घर वापसी कर सकते हैं यानि समाजवादी पार्टी से जुड़ सकते हैं, लेकिन अभी कोई खास स्पष्ट संकेत नहीं हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *